सरपंच भी चलाएंगे कंप्यूटर, डिजिटल दुनिया में करेंगे प्रवेश

15 June 2017  Published 17:49 pm
'कोड उन्नति' के तहत डिजिटल होंगे सरपंच

सरपंचों और ग्रामीणों को डिजिटल शिक्षा देने के लिए शुरुआत में 100 उन्नति कम्युनिटी सर्विस सेंटर देश भर में खोले जाएंगे। फिलहाल तीनों के सहयोग से महाराष्ट्र में तीन और राजस्थान में 33 जगहों पर डिजिटल साक्षरता अभियान शुरू हो चुका है। जिसे 'कोड उन्नति' नाम दिया गया है।

नई दिल्ली। वह दिन दिन दूर नहीं जब गांव के सरपंच और अनपढ़ भी कंप्यूटर का माउस दबाते नजर आने के साथ सारा काम डिजिटल तरीके से करेंगे। उन्हें डिजिटल शिक्षा देने के लिए सैप (SAP) आगे आया है। सरपंचों और ग्रामीणों को डिजिटल शिक्षा देने में उनका साथ आईटीसी (ITC) और लार्सन एंड टुब्रो (L&T) दे रहा है।
डिजिटल शिक्षा के लिए नियुक्त होंगे शिक्षक

सभी सर्विस सेंटर आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, महाराष्ट्र, कर्नाटका, गुजरात, राजस्थान के साथ बंगलुरु, मुंबई, दिल्ली-एनसीआर, कोलकाता, अहमदाबाद, पुणे, विजाग और हैदराबाद के ग्रामीण इलाकों में शुरू की जाएगी।

इन सभी के सहयोग से गांवों में डिजिटल शिक्षा के लिए जरूरी उपकरण और इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध करवाए जाएंगे। साथ ही सरपंचों और ग्रामीणों को डिजिटल शिक्षा देने के लिए शिक्षक भी नियुक्त किए जाएंगे। ताकि, उन्हें बेहतर डिजिटल शिक्षा दी जा सके।

डिजिटल शिक्षा बेहद जरूरी

'SAP' के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक देबदीप सेनगुप्ता कहते हैं कि, आज डिजिटल शिक्षा हर व्यक्ति के लिए जरूरी है। इसी को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री ने भी डिजिटल भारत का नारा दिया।